Agneepath movie dialogues

I do not like Bollywood movies and the last movie which i saw was Dhobi Ghat , i liked the movie very much.Same happened with Agneepath , though there was violence the movie is one of the best ever.After the joker of The Dark Knight it was Sanjat Dutt as kancha who will remain as a villain for a long time to come.Ritik was awesome and so was Rishi Kapoor.Here i list down some favorite lines which i would remember for a long time.

  • नाम विजय चौहान !! विजय दीनानाथ चौहान पूरा नाम !!बाप का नाम मास्टर दीनानाथ चौहान..गाँव मांडवा
  • तुम क्या लेकर आये थे और क्या लेकर जाओगे, रह जायेगा बस एक नाम सर्व शक्तिशाली सर्व शक्तिमान
  • क्या मोह क्या माया क्या ममता का बंधन ? सिर्फ आनंद ही आनंद
  • जीवन पानी के अन्दर है मास्टर
  • कोई कमजोर यह नहीं कह सकता की उसने पहेलवान को माफ़ किया , इसके लिए कमजोर का पहेलवान होना जरूरी है
  • श्रृष्टि बहुत ताप गयी है , गले मिलना संक्रामक है ,संक्रामक का मतलब समझते हो मास्टर , मतलब बीमारी ,विनाश ,रोग
  • विजय चौहान इस जन्म में मुक्ति पाने के लिए मृत्यु का आलिंगन जरूरी है
  • तू मेरे जैसा नहीं है क्यूंकि मेरे अन्दर प्यार , मोह और दया नहीं है
  • आत्मा न जन्म लेती है न मरती है इसका केवल शारीर परिवर्तन होता है
  • येरे येरे पावसा, तुला देतो पैसा,पैसा झाला खोटा, पाऊस आला मोठा
  • डोंगरी के एक बस्ती में रहने वाला आज यहाँ आया है मुंबई बेचने बदले में कुछ तो चाहता होगा ……मांडवा
  • रावण से उसकी लंका ही मांग ली
  • मुंबई क्या तुम्हारे जेब में है ? नहीं मेरी मोजरी में
  • शक्ति का पास होना जरूरी है मगर सवाल शक्ति के इस्तेमाल का है

However above all this is the poem Agneepath which has been a revelation

वृक्ष हों भले खड़े,
हो घने, हो बड़े,
एक पत्र-छॉंह भी मॉंग मत, मॉंग मत, मॉंग मत!
अग्नि पथ! अग्नि पथ! अग्नि पथ!

तू न थकेगा कभी!
तू न थमेगा कभी!
तू न मुड़ेगा कभी!
कर शपथ! कर शपथ! कर शपथ!

ये महान दृश्य है, चल रहा मनुष्य है,
अश्रु श्वेत् रक्त से,
लथ पथ, लथ पथ, लथ पथ !
अग्नि पथ! अग्नि पथ! अग्नि पथ!

–हरिवंशराय बच्चन

Published by ekraastahaijindagi

Arsenalist,reader,runner,oldmonker,footballer,photographer,trekker,traveler,socialworker,writer,biker,IITian,MBA,Travel blogger, book reviewer. For the last 11 years I have been traveling with the notion , one idea to be with the nature and explore places. In between all this i also carry a full time job in the Social sector. This has been the greatest experiment of my life, to quit all and travel and to give back to the society

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

ranjeetrex

Just another WordPress.com site

ideas.ted.com

Explore ideas worth spreading

Kerala Snippets

Kerala, God's Own Country, through my lens

The Anon Girl

Ramblings of an Anonymous Girl

The Lazy Writer

MY MYRIAD MUSINGS...

Not Your Typical Microfinance Blog

A blog about microfinance, motivation and management

The Godly Chic Diaries

BY GRACE THROUGH FAITH

%d bloggers like this: